Latest

मेटागॉड क्रिएटर्स करेगा वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर ट्रस्ट का मेटावर्स में निर्माण।

रिपोर्टिंग आनंद गुरव सूरत

नयी दिल्ली (भारत), 27 जून: मेटागॉड क्रिएटर्स, एक अभूतपूर्व प्लेटफार्म जो लोगों को मिक्स रियलिटी के आधार पर आध्यात्मिकता और भक्ति का एक अलग अनुभव देने के लिए तैयार है!मेटावर्स प्लेटफॉर्म में वृंदावन चंद्रोदय मंदिर ट्रस्ट के लिए पहले चरण को पार कर लिया है। इस खाते का प्रबंधन मेटागॉड के दिल्ली कार्यालय द्वारा किया जाएगा।

जनादेश में मंदिर के पहले चरणदक्षिण विंग का मेटावर्स प्लेटफॉर्म का समावेश है। डिजिटल धनकी रणनीति और इनफ्लुएंसर मार्केटिंग की योजना के साथ-साथ वर्चुअल वर्ल्ड में मिश्रित विभिन्न डिजिटल गतिविधियों का काम शामिल है जो वर्चुअल रिएलिटी (वीआर) और ऑग्यूमेंटेड रिएलिटी (ए आर) के उपयोग द्वारा वीसीएम मंदिर के अनुभव कोसुविधाजनक बनाएगा । बुर्ज खलीफा, टाइम्स स्क्वायर, नैस्डैक औरअन्यदुनिया के प्रमुख स्थानों पर मीडिया द्वारा विज्ञापन स्थान की खरीदारी की जाएगी।

इस्कॉन बैंगलोर के भक्तों की एक पहल की वजह से वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर भारत के वृन्दावन, मथुरा में निर्माणाधीन दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर है। कई एकड़ में फैला यह मंदिर शायद भारत की सबसे ऊंची, भव्य और सबसे बड़ी धार्मिक संरचना होगी। परियोजना आयोजकों ने कहा कि 70 मंजिला ऊंचे मंदिर में एक कैप्सूल एलिवेटर की सुविधा होगी जो आगंतुकों को ग्राउंड लेवल से सबसे ऊपर स्थित देखने वाली गैलरी तक ले जाएगी, जिससे ब्रज क्षेत्र का व्यापक दृश्य दिखाई देगा।

इस उपलब्धी के बारे में बोलते हुए मेटागॉड टीम ने कहा, “मिक्स रियलिटी के उपयोग के माध्यम से, उपयोगकर्ता अपने विश्वास से जुड़ सकते हैं और भक्ति के गहन क्षणों का अनुभव ले सकता है। मेटागॉड का लक्ष्य पवित्र और आध्यात्मिक क्षेत्र को डिजिटल क्षेत्र में लाना है।”

“वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर विश्व स्तर पर सबसे महत्वाकांक्षी आध्यात्मिक परियोजनाओं में से एक है। हरे कृष्ण आंदोलन के दुनिया भर में लाखों मंडली सदस्य हैं। हम यह महत्वपूर्ण काम करने का अवसर पाकर रोमांचित हैं।

हमारी रणनीति एक्टिव कंटेंट के साथ अनुभव और जुड़ाव प्रदान करना और दुनिया भर में भक्तों के साथ सहयोग बढ़ाने के लिए तंत्रज्ञान का उपयोग करना होगा।

वीसीएम फेज़1 मेटावर्स प्लेटफ़ॉर्म क्या प्रदान करेगा:

ए. मेटावर्स में विश्वास: मेटा ग्लास और स्मार्ट उपकरणों के साथ भौतिक मंदिर का एक पूर्ण आभासी अनुभव

बी. विभिन्न त्योहारों और महत्वपूर्ण आयोजनों में भागीदारी

सी. दैनिक आरती – मंगला आरती, श्रृंगार आरती, और शयन आरती आदि।

डी. दान विशेषताएं:

ए.। मंदिर निर्माण सेवा

बी। साधुओं, विधवा माताओं और आगंतुकों के लिए अन्नदान सेवा

सी। गौ सेवा

डी। पोशाक सेवा

इ। प्रसादम सेवा

ई. वैदिक साहित्य जैसे भगवद गीता, श्रीमद-भागवतम आदि से उपदेश।

GExpressNews | The latest news from India and around the world. Latest India news on Bollywood, Politics, Business, Cricket, Technology and Travel.

Related Posts

અમદાવાદની ૧૪૭મી જગન્નાથ રથયાત્રા શાંતિ-સલામતી સાથે સફળતાપૂર્વક પાર પાડવા પોલીસ તંત્ર સંપૂર્ણ સજ્જ અને પ્રતિબદ્ધ

ગાંધીનગર, સંજીવ રાજપૂત: મુખ્યમંત્રી ભૂપેન્દ્ર પટેલે અમદાવાદમાં પ્રતિ વર્ષે અષાઢી…

ગુજરાત, મહારાષ્ટ્ર, ગોવા રાજયના ઝોન ૮ના ડાયરેક્ટરશ્રીએ કૃષિ વિજ્ઞાન કેન્દ્ર, ગીર સોમનાથની મૂલાકાત લીધી

ગુજરાત, મહારાષ્ટ્ર, ગોવા રાજયના ઝોન ૮ના ડાયરેક્ટરશ્રી ડે.એસ.કે.રોય, આઈ.સી.એ.આર,…

રાષ્ટ્રીય ડૉકટર્સ દિવસે રાજ્યના તમામ તબીબોની કર્તવ્યનિષ્ઠાને બિરદાવી અભિનંદન પાઠવતા આરોગ્ય મંત્રી

ગાંધીનગર, સંજીવ રાજપૂત: ૧લી જુલાઇ રાષ્ટ્રીય ડૉકટર્સ દિવસે રાજ્યના આરોગ્યમંત્રી…

1 of 546

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *