Latest

आयुर्वेद और उद्यमिता का एक अनूठा संगम-एस्लीकेयर वेलनेस आयुर्वेद कई वर्षों से स्वस्थ जीवन जीने के तरीके के बारे में जानकारी का एक मूल्यवान स्रोत रहा है।

रिपोर्टिंग आनंद गुरव सूरत

प्राचीन भारत में, आयुर्वेद को व्यापक रूप से बीमारियों के इलाज और स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता था। आयुर्वेद एक शक्तिशाली पारंपरिक औषधियों का मिश्रण है जिसका उपयोग आधुनिक दुनिया में अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए किया जाता है।

इसी को मध्यनज़र रखते हुए और आयुर्वेद का ज्याद से ज्यादा प्रसार करते हुए एक पूर्व सरकारी कर्मचारी और एस्लीकेयर वेलनेस प्राइवेट लिमिटेड के CEO और MD – श्री भवानी शर्मा जी, का मानना है की यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सिद्धांत है, इसलिए हमें इसे नहीं छोड़ना चाहिए।

अब आपके मन में ये सवाल उठ रहे होंगे की एस्लीकेयर वेलनेस है क्या? तो आइये जानते हैं कैसे एक आयुर्वेदिक कंपनी, देश भर में युवाओं को उद्यमियता का स्त्रोत दे रहे हैं –
क्या है एस्लीकेयर का आयुर्वेद के क्षेत्र में योगदान?आयुर्वेद, चिकित्सा की 5000 साल पुरानी प्रणाली है जो आपको आधुनिक जीवन शैली के अनुकूल बनाने और स्वस्थ आदतों को विकसित करने में मदद कर सकती है।

इसमें प्राकृतिक उत्पादों का उपयोग दवाओं और रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाले पदार्थों जैसे उत्पादों को तैयार करने के लिए किया जाता Asclecare Wellness के  प्रोडक्ट्स शुध्द आयुर्वेदिक औषधियों के मिश्रण से बने हुए है। ये ही नहीं एस्लीकेयर नौजवानो को स्वास्थ्य के साथ साथ सफलता के कई पड़ाव भी उपलब्ध करा रही है। कंपनी की स्थापना अगस्त 2022 में श्री भवानी शर्मा जी द्वारा की गई थी, एस्लीकेयर वेलनेस एक ऐसी कंपनी है जो विश्व स्तरीय आयुर्वेदिक वेलनेस और फूड सप्लीमेंट उत्पादों के उत्पादन और प्रत्यक्ष विपणन विधियों के माध्यम से ऐसे उत्पादों के वितरण में लगी हुई है।

एस्लीकेयर का बिजनेस मॉडल उन सिद्धांतों पर आधारित है जो लोगों को अपनी शर्तों पर आर्थिक स्वतंत्रता का जीवन जीने में मदद करने के लिए उन्मुख हैं।श्री भवानी शर्मा जी साझा करते हैं, “मेरे लिए हमेशा ऐसा व्यवसाय स्थापित करना एक सपना था जो न केवल मेरे लिए बल्कि दूसरों के लिए भी आय उत्पन्न कर सके। मेरे अधिकांश दोस्त वास्तव में मेरे विचारों को समझ नहीं पाते थे और मुझ पर हंसते थे।

उनका ये कहना था की अगर मुझे युवाओं की मदद ही करनी है तो मैं क्यों न एक NGO खोल लूँ , जिससे शायद मैं एक बेहतर शुरुआत के साथ-साथ लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद कर सकूंगा। हालांकि, मेरे दोस्तों की इन बातों ने मेरे सपने को आगे बढ़ाने में मेरे संकल्प को और मजबूत किया।

आज, मैंने अपने सपने को साकार कर लिया है, और हमारे पास Asclecare में एक बहुत ही व्यवहार्य व्यवसाय मॉडल है जो कि है सैकड़ों लोगों को अच्छा लाभ कमाने और आर्थिक रूप से स्वतंत्र होने में मदद करेगा,”आयुर्वेद अपनाये – भारत को बचाएं अन्य संगठनों ने भी आयुर्वेद को एक वैध चिकित्सा प्रणाली के रूप में मान्यता दी है।

लेकिन शर्मा जी का मान ना है कि एक healthcare firm के रूप में अपना विचार शुरू करना बहुत ही अच्छा काम है। इसलिए एस्लीकेयर वेलनेस प्राइवेट लिमिटेड की शुरुआत की जो की एक हर्बल आयुर्वेदिक स्वामित्व वाली वस्तुओं का निर्माता है। आगे शर्मा जी कहते हैं – मैंने अपने परिवार में आयुर्वेद की वास्तविक शक्ति को देखने के बाद, B2B और B2C व्यवसाय मॉडल के माध्यम से अपने उत्पादों को बनाया है। शुरुआत  में निम्न मध्यम वर्ग के लोगों के एक समूह के साथ उन्होंने काम करना शुरू कर दिया। मई 2017 से, उन्होंने खुद को इस आयुर्वेदिक क्षेत्र के लिए समर्पित कर दिया और आखिरकार, अगस्त 2022 में, उन्होंने अपनी खुद की कंपनी शुरू की।

एस्लीकेयर वेलनेस से सम्पर्क करने के लिए उनके टोल फ्री न. 1800-123-5698 पर कॉल करें या
उनकी वेबसाइट www.asclecarewellness.com पर विज़िट करें।

GExpressNews | The latest news from India and around the world. Latest India news on Bollywood, Politics, Business, Cricket, Technology and Travel.

Related Posts

1 of 346

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *